पत्तों से थाली बनाने का धंधा कैसे शुरू करें । How to start a business of making a plate with leaves

 पत्तों से थाली बनाने का धंधा कैसे शुरू करें । How to start a business of making a plate with leaves

इंसान का जब से उत्पत्ति हुआ तब से वह अपना भोजन नीचे जमीन पर रखकर खाता था । जैसे-जैसे इंसान का दिमाग विकसित होते गया, वह पत्थर पर रखकर खाने लगा पत्थर से फिर वह पेड़ पौधे के लंबे चौड़े पत्तों पर रखकर खाना शुरू कर दिया। जब वह पेड़ पौधे के पत्तों पर अपना खाना, खाना शुरू किया ,तब उसको पत्थरों जमीन की तुलना में वह खाना काफी अच्छा और संतुष्टि से भरा लगा । तब से इंसान आज तक पत्तों पर खाता है । और उनको काफी संतुष्टि मिलती है। 

www.businestips.com
Shaku

 

आज के समय में लोग पत्तों पर खाना -खाना काफी शुभ मानते हैं ।लेकिन इंसान जैसे जैसे अपना विकास कर रहा है, उसके हिसाब से यह पुरानी चीजें छुट्टी जा रही हैं। और लोग स्टील के थालीयों में खाना खा रहे हैं, किसी भी धातु के बर्तन में खाना ,खाना या उसमें पानी पीना सबको स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदेह होता है। क्योंकि धातु धीरे -धीरे घिसकर पानी और खाने के साथ में हमारे शरीर में जाता है ।और वह शरीर में इकट्ठा होकर विभिन्न प्रकार के रोगों का जन्म देता है। जो बाद में चलकर काफी दिक्कत देता है।

www.businestips.com
Banana leaves

 

 आज हम बताएंगे आपको कि किस-किस पेड़ से उनके पत्तों से आप खाने के लिए थाली गिलास इत्यादि बना सकते हैं। वह भी बिल्कुल फ्री में आपको ₹1 भी लगाने की जरूरत नहीं है । यह सब कुछ फ्री में मिल जाएगा आपको वह भी बिलकुल आसानी से मिल जाएगा । इसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है ,यह सब एक पेड़ से आसानी से मिल जाएगा ।अगर आपका घर जंगल के आसपास है या आपके घर के आसपास कोई पेड़ है, जिसके पत्ते लंबे और चौड़े हैं ।

 निम्नलिखित बड़ों के पत्तों से हम विभिन्न प्रकार के थालियां दोने गिलास कटोरी और कब बना सकते हैं इसमें से -

  • सखुआ का पेड़ 
  • चीड़ का पेड़ 
  • सागौन का पेड़
  •  केले का पेड़ इत्यादि 

सखुआ । Sahuka

सखुआ का पेड़ समानता पहाड़ी इलाकों में पाया जाता है। लेकिन यह उत्तर भारत के लगभग सभी जंगलों में पाया जाता है । यह काफी लंबा होता है और इसके पत्ते चौड़े होते हैं। या काफी महंगी लकड़ी है इसका पत्ते से लेकर जड़ तक काफी मांगे दर में बिकता है। इसके पत्ते को तोड़कर विभिन्न प्रकार के शादियों में खाना खाने तथा अन्य प्रकार के सामग्री बनाने में प्रयोग में लिया जाता है।

 

www.businestips.com
सखुआ

 आप चाहे तो इसके पत्तों को तोड़कर और विभिन्न प्रकार के पत्तों का बर्तन बनाकर आप बेच सकते हैं। इसका डिमांड इतना ज्यादा है, कि आपको मार्केट में ले जाकर या बाजार में ले जाकर आपको बेचने की जरूरत नहीं है। व्यापारी लोग आपसे खुद संपर्क करके यह सब खरीद लेंगे । आपको घर बैठे समय से पैसा मिल जाएगा वह भी बिना किसी इन्वेस्ट के आपको ₹1 भी लगाने की जरूरत नहीं है।

businestips.com
सखुआ

 

 इसमें प्राकृतिक से पेड़ों के पत्तों को लेना है। और उस पर आपको अपना हुनर को विभिन्न प्रकार के आकृति देकर उसमें डिजाइन बनाकर आप उसको बेच सकते हैं । इस धंधा के लिए आप जंगल के किनारे बसे लोगों को आप अपने संपर्क में ले सकते हैं ।और उनसे  काम करवा कर कम रेट में उनसे पैसे पर खरीद कर और ज्यादा रेट पर आप बेच सकते हैं।

सखुआ

 केले का पेड़ । Banana tree 

बढ़ती जनसंख्या और डिमांड को देखते हुए आज लोक पुरानी विचारधाराओं को अपना रहे हैं।  पुराने खानपान को भी अपना रहे हैं। इसमें पत्ते के बर्तन को ही लोग अपना रहे हैं। इसमें आता है केले का पत्ता दक्षिण भारत में केले के पत्तों पर खाना काफी लंबे समय से आ रहा है। वहां लोग अपने पूर्वजों के टाइम से अभी तक केले के पत्ते पर खाना खाते हैं ।और यह देखते हुए केले के पत्तों को अब तो थाली के रूप में बदल दिया गया है । इससे कोई नुकसान नहीं है और ना ही किसी प्रकार का प्रदूषण फैलता है ।

 


अभी आधुनिक टेक्नोलॉजी का उपयोग उपयोग करके हम हरे केले के पत्तों को थाली के रूप में, गिलास के रूप में, दोनों के रूप में, और विभिन्न प्रकार के खाने का सामग्री को इकट्ठा करने के रूप में मना रहे हैं। जिससे प्रदूषण को रोकने के लिए यह सब से अच्छा तरीका है। इस पर सरकार भी काम कर रही है ,ताकि प्लास्टिक और डिस्पोजल के बने थाली गिलास को रोका जा सके। केले के पत्तों को थाली ग्रुप में यूज किया जा रहा है। केला लगभग भारत के सभी जगह में पाया जाता है। और इसके पत्ते की लंबाई चौड़ाई भी काफी ज्यादा होता है, इस पर खाना खाने से कोई भी दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है ।

जोकि किसी भी धातु के बर्तन में खाना खाने से हमारे शरीर पर बहुत गहरा असर पड़ता है । इसलिए आज जरूरत है, हमको ऐसी चीज की जो हमारा शरीर स्वस्थ रहें हमारा वातावरण बना रहे हैं । और किसी प्रकार का नुकसान ना हो हम केले का पत्ते के बर्तन को एक बिजनेस करके उत्पन्न कर सकते हैं। इसमें आपको ऐसे area चुनना है । जहां पर केला का उत्पादन ज्यादा होता है। वहां से पत्ते को आप को लेकर और आधुनिक मशीनों के हेल्प से आप उसको थाली के रूप में बदल सकते हैं। या दूसरा विकल्प यह भी है, कि आप जो दूर दराज के गांव हैं । जो शहर से दूर हैं ,वहां के लोगों को आप संपर्क कीजिए उनको आप प्रशिक्षित कीजिए और उनके घर पर ही थाली बनाने का ठेका दीजिए।  जिससे वह आपको बनाके आपको दे सकते हैं और आप उनके थोड़े बहुत रेट पर लेकर और आप अच्छे रेट पर बाजार में बेचकर आप अच्छा उचित दाम पर बेच सकते हैं।

businestips.com
Banana leaves

  इसमें आपको काफी फायदा होगा और आपको किसी प्रकार का नुकसान होने की कोई संभावना नहीं है। क्योंकि शादी- विवाह प्रोग्राम सबके घर पर होता है। या देखते हुए लोग आजकल इन सब चीजों का उपयोग बहुतायत मात्रा में कर रहे हैं । तो इस बिजनेस का उपयोग करके आप अपना और आपके साथ वालों का या आपके साथ में जो काम करते हैं ।उनका लेवल बदल सकते हैं ,और वह भी एक अच्छी जिंदगी जी सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ